एक तरफ रफाल की पराक्रमी उड़ान और दूसरी ओर डरे हुए पाकिस्तान की धमकी

0
37
rafale
rafale

inFact Post: हाल ही में भारत आए पांच रफाल लड़ाकू विमानों को देखते हुए पाकिस्तान की नींद उड़ी हुई है। पड़ोसी देश में एक डर का माहौल भी बना हुआ है। इसी बीच पाकिस्तान से रफाल के संदर्भ में कुछ बातें भी सामने आई हैं। पाकिस्तान के सेना के प्रमुख प्रवक्ता मेजर जनरल बाबर इफ्तिखार ने कुछ ऐसा ही बयान दिया है। अपने बयान में पाकिस्तान के इस प्रमुख प्रवक्ता ने कहा कि भारत में चाहे S-400 हो या फिर रफाल हम तैयार हैं।

इन्हीं शब्दों में पाकिस्तान ने अपने डर को जगजाहिर भी कर दिया है। कहीं ना कहीं उन्हें रफाल से डर तो लग ही रहा है। भारत ने अपनी सुरक्षा के दृष्टिकोण से रफाल को खरीदा है, परंतु रफाल से पाकिस्तान कहीं ना कहीं बहुत डरा हुआ है। इसी कारण भारत में रफाल के प्रवेश करते ही पाकिस्तान ने अपना डर जाहिर कर दिया है, कि रफाल के आगे उनकी एक भी नहीं चलने वाली है। यही कारण है कि पाकिस्तान भारत से मुकाबला करने की धमकी बार-बार दे रहा है।

IAF_Rafale_aircraft_touching_down_at_Air_Force_Station_Ambala_on_its_arrival_on_29_July_2020
IAF Rafale aircraft touching down at Air Force Station Ambala on its arrival on 29 July 2020

यहां केवल रफाल की ही बात नहीं है, पाकिस्तान ने अपने बयान में S-400 डिफेंस सिस्टम का भी जिक्र किया है। S-400 डिफेंस सिस्टम एक उत्तम प्रकार की डिफेंस तकनीक है जिसकी सहायता से भारत लड़ाई में आसानी से जीत हासिल कर सकता है। यह डिफेंस सिस्टम अभी तक रूस से भारत नहीं आया है। परंतु जल्द ही यह भारतीय डिफेंस सिस्टम में शामिल होने वाला है। परंतु हैरान करने वाली बात यह है कि हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान में अभी से खलबली मची हुई है, S-400 आने के बाद पता नहीं क्या होगा।

Dassault_Rafale_version
Dassault Rafale Design

फ्रांस से 29 जुलाई को पहली बार पांच राफेल विमान भारत पहुंचे थे और अभी 31 और राफेल विमानों का भारत में आना बाकी है। फ्रांस y5 राफेल विमानों को 29 जुलाई को भारतीय वायुसेना में शामिल किया गया है। जहां एक तरफ भारतीय सीमा पर पाकिस्तान लगातार संघर्ष विराम का उल्लंघन करता रहा है, वहीं दूसरी तरफ भारत में राफेल विमानों के आने के कारण पड़ोसी देश पाकिस्तान में काफी दहशत फैली हुई है।

इतने हथियार खरीदना ठीक नहीं- पाकिस्तान

इसी क्रम में पाकिस्तान ने यह भी कहा कि, “ भारत में हथियारों की होड़ लगाना ठीक नहीं है। दक्षिण एशिया में हथियारों के दौड़ के खिलाफ हम इस घटनाक्रम से बेखबर नहीं है।”

इस संदर्भ में नवीन खबरों के लिए बने रहे हमारे साथ। नवीनतम जानकारियों के लिए आप हमें फेसबुक अथवा ट्विटर पर फॉलो कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here