Wednesday, October 20, 2021
Homeभारतनरेन्द्र मोदी ने इस मामले में पीछे छोड़ा अटल बिहारी वाजपेयी को

नरेन्द्र मोदी ने इस मामले में पीछे छोड़ा अटल बिहारी वाजपेयी को

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज गुरुवार 13 अगस्त को गैर-कांग्रेसी नेता के रूप में सबसे अधिक समय तक प्रधानमंत्री पद पर रहने का रिकार्ड बनाया। इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के नाम पर यह रिकार्ड था, जिन्होंने 1998 से 2004 के दौरान 6 वर्षों से अधिक समय तक भारत के प्रधानमंत्री पद पर अपना कार्यकाल पूरा किया था। इसी कार्यकाल में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, जिन्होंने लगातार दो कार्यकाल 10 वर्षों का पूरा किया था और इस सूची में तीसरे स्थान पर है, की बराबरी करने का अवसर है।
भारत की राजनीति में कांग्रेस के जवाहरलाल नेहरू के नाम सबसे लम्बे समय तक प्रधानमंत्री रहने का रिकार्ड दर्ज है। वे आजादी के बाद से अपनी मृत्यु तक, 15 अगस्त 1947 से 27 मई 1964 तक के दौरान 16 वर्ष 286 दिनों तक प्रधानमंत्री पद पर बने रहे। उनके बाद दूसरे स्थान पर इंदिरा गांधी 15 वर्षों से अधिक समय तक प्रधानमंत्री पद पर कार्यरत रही।

नरेन्द्र मोदी

स्वतंत्रता दिवस पर नरेन्द्र मोदी बनायेंगे झण्डा फहराने का रिकार्ड

इसी के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर गैर-कांग्रेसी नेताओं में सबसे अधिक लगातार सातवीं बार लाल किला पर झण्डा फहराने का रिकार्ड भी बनायेंगे। इसमें भी वे अटल बिहारी वाजपेयी का रिकार्ड तोड़ेंगे जिन्होंने अपने कार्यकाल में लगातार 6 बार लाल किला से तिरंगा फहराया था।
लाल किले से सबसे अधिक बार तिरंगा फहराने का रिकार्ड भी भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के नाम है, जिन्होंने अपने 16 वर्षों से अधिक के कार्यकाल में लगातार कुल 17 बार तिरंगा झण्डा फहराया था। इसके बाद उनकी पुत्री प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने लगातार 11 बार व कुल 16 बार लालकिले से तिरंगा फहराने का सौभाग्य प्राप्त किया। तीसरे स्थान पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, जिन्होंने अपने दो लगातार कार्यकाल में 10 वर्षों तक, वर्ष 2004 से 2013 तक लालकिले के प्राचीन से 15 अगस्त को तिरंगा फहराने का अवसर प्राप्त किया।

ये भी पढ़ें : काँग्रेस विधायक के भांजे के विवादित फेसबुक पोस्ट पर जला बैंगलोर, बेंगलूरु में हिंसा


राजीव गांधी व नरसिम्हा राव का नाम संयुक्त रूप से 6ठे स्थान पर है, जिन्होंने एक कार्यकाल पूरा करते हुए पाँच-पाँच बार लाल किले के प्राचीन से तिरंगा फहराया है।अब तक लाल बहादुर शास्त्री ने दो बार, मोरारजी देसाई ने दो बार, चौधरी चरण सिंह, वी.पी. सिंह, एच.डी. देवेगौड़ा व इन्द्र कुमार गुजराल ने एक-एक बार लाल किले के प्राचीन से तिरंगा फहराने का सौभाग्य प्राप्त किया है। यह भी एक अनोखी बात है कि देश के दो प्रधानमंत्री चन्द्रशेखर व गुलजारी लाल नन्दा स्वतन्त्रता दिवस के अवसर पर लालकिले से तिरंगा फहराने का अवसर प्राप्त नहीं हो सका।
मई 2014 में पूर्ण बहुमत से भाजपा द्वारा सत्ता प्राप्त करने के बाद से प्रधानमंत्री के रूप में नरेन्द्र मोदी ने 2019 में भी बहुमत प्राप्त करते हुए भारत की राजनीति में पहली बार रिकार्ड कायम करते हुए लगातार दो बार पूर्ण बहुमत वाली गैर-कांग्रेसी सरकार बनाने में सफलता प्राप्त की।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments