Home ट्रेंडिंग 82 प्रतिशत रेप करने वाले अब्बा या भाई होते हैं – शंदाना...

82 प्रतिशत रेप करने वाले अब्बा या भाई होते हैं – शंदाना गुलजार PTI पाकिस्तान

5
352
MNA-shandana-gulzar-pti
MNA-shandana-gulzar-pti

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI पाकिस्तान), के तरफ से MNA शंदाना गुलजार ने सरकार से बच्चियों के हो रहे बलात्कार के मूल कारणों का पता लगाने का आग्रह किया है, इस बारे में मिली एक रिपोर्ट के अनुसार यह कहा गया है कि बलात्कार के केस में कम से कम 82 प्रतिशत अपराधी परिवार के सदस्य ही होते हैं, जिनमें बच्चियों और वयस्क महिलाओं के शोषण में अब्बा, भाई, चचा, ताया, दादा, नाना, मामू और फूफा सर्वाधिक दोषी पाए जाते हैं।

एक टीवी शो पर बात करते हुए, MNA गुलज़ार ने पाकिस्तान के महिलाओं के अधिकार के लिए लड़ने वाले एक NGO ग्रुप WAR (War on Rape) के आंकड़ों के हवाले से कहा कि लड़कियों के बलात्कार के मामलों में सबसे अधिक परिवार के सदस्य शामिल होते हैं।

मएनए शंदाना गुलजार ने बताया की, जो लड़कियां अपने परिवार के सदस्यों द्वारा यौन उत्पीड़न के बाद गर्भवती हो जाती हैं, वे पुलिस से संपर्क नहीं करती हैं, बल्कि गर्भपात के लिए स्त्रीरोग विशेषज्ञ के पास जाती हैं। गुलजार कहती है कि इन लड़कियों की माताएं पुलिस के पास नहीं जाती हैं, क्योंकि उनका मानना यह होता है की अपने बच्ची के लिए अपने पति को कैसे छोड़ सकती है।

शंदाना गुलजार ने इसे समाज के सबसे बुरे पहलुओं में से एक बताया और उन्होंने यह भी कहा कि इस बारे में कोई भी बात करने तक को तैयार नहीं है। वे 3 साल से इसी क्षेत्र में काम कर रहे थे और लड़कियों के ऊपर हो रहे अत्याचारों को देख रही थी।

उनके अनुसार इस विषय में कोई भी खुल कर सामने नहीं आना चाहता है। यहाँ तक की पीड़ित लड़की की माँ भी अपने शौहर के खिलाफ पुलिस में जाने से कतराती है। पीड़ित के परिवार वालों का कहना होता है की जब रेप या उत्पीड़न घर के सदस्य द्वारा ही किया गया हो तो उसमें कोई क्या कर सकता है।

Rapes in Pakistan
Protest against Rapes in Pakistan

उनका यह मानना होता है की यदि घर का सदस्य ऐसे उत्पीड़न वाले मामलों में लिप्त पाया जाता है तो, घर का सदस्य होने के कारण उसे जेल थोड़े ही भेज देंगे। घर का मामला है यही कह कर ऐसे मामलों को दबा दिया जाता है।

उन्होंने कहा कि यदि सरकार बलात्कार के इन कारणों को दूर करने का प्रयास करें, तब जाकर एक विकसित समाज का उदय होगा और महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराध रुक सकेंगे।

Motorway रेप केस (Pakistan)

इस केस में एक महिला का 2 पुरुषों द्वारा कथित तौर पर उसके ही बच्चों के सामने बंदूक की नोक पर रेप कर दिया गया। उस महिला की कार लाहौर के पास गुज्जरपुरा इलाके में पेट्रोल खत्म हो जाने के कारण बंद पड़ गई थी।
पुलिस ने बताया कि गुजरांवाला की रहने वाली वह महिला मंगलवार रात को लाहौर से अपने शहर लौट रही थी, तभी अचानक उसके कार का पेट्रोल खत्म हो गया।

Geo News Pakistan,के अनुसार उस महिला ने सहायता के लिए अपने पति को फोन किया, तब उसके पति ने उसे मोटरवे पुलिस को फोन करके सहायता लेने की सलाह दी। परंतु मोटरवे पुलिस ने महिला की मदद करने से इनकार करते हुए कहा कि वह क्षेत्र उनके कार्यक्षेत्र में नहीं आता है और अभी तक किसी ने उन्हें इसकी सूचना नहीं दी है।

क्योंकि वह इलाका सुनसान था, इसी का फायदा उठाते हुए 2 हथियारबंद लोगों ने सुनसान इलाके में खड़े वाहन को देखते ही वहां पहुंच गए। इसके पश्चात उन्होंने उस वाहन की खिड़की का शीशा तोड़ दिया और उसमें से महिला को घसीटते हुए बाहर ले गए। इसके बाद उन्होंने उस महिला को बगल के ही एक फील्ड में ले जाकर उसका रेप किया। रिपोर्ट के अनुसार उस महिला के पास ₹100000 के गहने और एटीएम कार्ड भी लूट लिए गए।

5 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here